Connect with us

बधाई: उत्तराखंड के युवाओं ने यूपीएससी में मारी बाजी, ये युवा IAS ऑफिसर बन करेंगे देश सेवा…

उत्तराखंड

बधाई: उत्तराखंड के युवाओं ने यूपीएससी में मारी बाजी, ये युवा IAS ऑफिसर बन करेंगे देश सेवा…

देहरादून: यूपीएससी का रिजल्ट जारी हो गया है। जिसमें उत्तराखंड के कई युवाओं ने सफलता हासिल कर प्रदेश का नाम रोशन किया है। इसमें रुड़की की सदफ ने 23 वी रैंक, रुद्रपुर की वरुणा ने 38वीं रैंक, नैनीताल की शैलजा पांडे ने 61वीं रैंक और हरिद्वार के उत्कर्ष ने 172वीं रैंक, राममगर के देवांश पांडे ने 201 वीं रैंक हासिल की है। युवाओं की कामयाबी से खुशी की लहर दौड़ पड़ी है। अफसर बन देश सेवा करने वाले युवाओं को बधाई देने वालों का तांता लग गया है।

बता दें कि सदफ भगवानपुर के मोहितपुर गांव की रहने वाली है। सदफ ने दो साल घर पर रह कर ही पढ़ाई की है। और यूपीएससी परीक्षा में 23 वी रैंक हासिल कर आईएएस बनकर पूरी शिक्षानगरी का नाम रोशन किया है। सदफ अपने पिता मोहम्मद इसरार, माता शाहबाज बानो, बहन सायमा व भाई मोहम्मद साद के साथ रहती हैं। उन्होंनेए नआईसी जालंधर से बीटेक करने के बाद घर पर ही उन्होंने परीक्षा की तैयारी की और कड़ी मेहनत के बाद ये मुकाम हासिल किया है। वहीं हरिद्वार के उत्कर्ष ने संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में 172वीं रैंक हासिल की है. 2018 में भी उन्होंने 306वीं रैंक हासिल की थी। उत्कर्ष आजकल देहरादून स्थित फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट (एफआरआई) में भारतीय वन सेवा (आईएफएस) की ट्रेनिंग ले रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  खेल पुरस्कारों की हुई घोषणा, गोल्डन ब्वॉय नीरज चोपड़ा समेत 11 खिलाड़ियों को मिलेगा 'खेल रत्न अवॉर्ड'...

वहीं यूपीएससी परीक्षा में 23 वी रैंक हासिल प्रदेश का नाम रोशन किया है। रुद्रपुर की बेटी वरुणा ने देश में 38वीं रैंक हासिल कर प्रदेश का नाम रोशन किया है। वरुणा की इस उपलब्धि पर उन्हें बधाई देने वालो का तांता लगा हुआ है। वरुणा ने अपनी सफलता का श्रेय अपने परिजनों को दिया है। उन्होंने कहा वह शिक्षा और समाज के कमजोर तबके के बच्चो के लिए काम करना चाहती है। वरुणा की सफलता पर शहरभर में खुशी का माहौल है। वरुणा ने बताया कि वह हर दिन आठ से दस घंटे पढ़ाई करती रही।परीक्षा के दिनों में 12 घंटे पढ़ाई की है। सिविल सर्विसेज परीक्षा के लिए कोई भी पूरी तैयार नहीं कर पाता है। इसलिए योजना के साथ पढ़ाई करनी होती है। परीक्षा की तैयार में स्मार्ट वर्क सबसे जरूरी होता है।

यह भी पढ़ें 👉  Big breaking: कोरोना में अपनों को खोने वाले परिवारों को सरकार ने शुरू की सहायता राशि...

वहीं नैनिताल की शैलजा पांडे ने भी संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में सफलता हासिल की है। उन्होंने 61वीं रैंक हासिल की। शैलजा पांडे ऊर्जा निगम के मुख्य अभियंता दीप चंद्र पांडे और बीडी पांडेय अस्पताल नैनीताल में डॉक्टर शोभा पांडेय की बेटी हैं। रामनगर के कानियां गांव के रहने वाले देवांश पांडे ने यूपीएससी की परीक्षा उत्तीर्ण कर रामनगर का नाम रोशन किया है। देवांश स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्वर्गीय भारत नंदन पांडे के पौत्र हैं। देवांश पांडे ने यूपीएससी परीक्षा में 201 रैंक हासिल किया। देवांश पांडे के पिता गोविंद बल्लभ पांडे हाईकोर्ट में कार्यरत हैं। देवांश ने द्वितीय प्रयास में यह परीक्षा उत्तीर्ण की है। देवांश की प्रारंभिक शिक्षा नैनीताल से पूरी हुई है। देवांश की उपलब्धि से परिजन खासे खुश हैं।

यह भी पढ़ें 👉  Big News: उत्तराखंड विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए इस IFS अधिकारी ने लिया VRS, जानिए क्यों लड़ेंगे चुनाव...

Latest News -
Continue Reading
Advertisement

More in उत्तराखंड

Advertisement

उत्तराखंड

उत्तराखंड
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

देश

देश
Our YouTube Channel

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

To Top
0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap