Connect with us

महंगाई: पहली तारीख को घरेलू सिलेंडरों के दाम बढ़ने से महिलाओं की रसोई का बजट फिर बिगड़ा…

देश

महंगाई: पहली तारीख को घरेलू सिलेंडरों के दाम बढ़ने से महिलाओं की रसोई का बजट फिर बिगड़ा…

बाजारों में महंगाई की रफ्तार सबसे तेज चल रही है। हर चीजों के दामों में बेधड़क बढ़ोतरी की जा रही है। बहुत कम ही समाचार सुनने को मिलते हैं कि किसी उत्पाद पर दाम घटा दिए गए हैं। ईंधन में हो रही बेतहाशा बढ़ोतरी ने देशवासियों का बजट ही बिगाड़ रखा है। आज एक बार फिर सरकार ने महिलाओं की रसोई का हिसाब गड़बड़ा दिया। एक ओर जनता घरेलू सिलेंडरों के दामों में कमी होने की उम्मीद लगाए हुए थी। वहीं सरकार ने लोगों को महंगाई का झटका और लगा दिया।

पिछले कई महीनों से जहां पेट्रोल और डीजल के बढ़ी हुई कीमतें कम होने का नाम नहीं ले रहीं हैं वहीं एलपीजी घरेलू गैस सिलेंडर के दाम भी आसमान छू रहे हैं। ‌ सितंबर शुरू होते ही एक तारीख को ही सरकार ने आपकी जेब पर बोझ और बढ़ा दिया है। घरेलू एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में एक बार फिर बढ़ोतरी की गई है। 15 दिन में ही गैर-सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडर 50 रुपये महंगा हो चुका है। आज 25 रुपये की बढ़ोतरी की गई है। इससे पहले पेट्रोलियम कंपनियों ने 18 अगस्त को गैस सिलेंडर की कीमतों में 25 रुपये का इजाफा किया था। दिल्ली में अब 14.2 किलोग्राम के गैर-सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में 25 रुपये का इजाफा हुआ है।

यह भी पढ़ें 👉  Big Breaking: कांग्रेस आलाकमान ने हरीश रावत को इस पद से हटाया, अब इन्हें सौपी जिम्मेदारी...

इस बढ़ोतरी के बाद अब दिल्ली में 14.2 किलोग्राम के एलपीजी सिलेंडर का दाम बढ़कर 884.50 रुपये हो गया है। इससे पहले 18 अगस्त को सिलेंडर का दाम 25 रुपये बढ़ा था। इससे पहले एक जुलाई को रसोई गैस की कीमतों में 25.50 रुपये की बढ़ोतरी की गई थी। बता दें कि एक जनवरी से लेकर आज तक इन आठ महीनों में सिलेंडर की कीमतों में 190 रुपये की बढ़ोतरी हो चुकी है। एक जनवरी को दिल्ली में घरेलू गैस सिलेंडर की कीमत 694 रुपये थी जो कि अब बढ़कर 884.5 रुपये हो गई है। गौरतलब है कि तेल कंपनियां हर महीने एलपीजी सिलेंडर के दाम की समीक्षा करती है और उसके बाद कीमत बढ़ाने या घटाने पर निर्णय लेती है। हर राज्य में टैक्स अलग-अलग होता है इस कारण इसकी कीमतों में थोड़ा ऊपर-नीचे देखने को मिलता है। मौजूदा वक्त में केंद्र सरकार ग्राहकों को एक साल में 12 घरेलू सिलेंडर पर सब्सिडी देती है। अगर कोई ग्राहक इससे ज्यादा सिलेंडर खपत करता है तो उन्हें बाजार मूल्य पर खरीदना होता है।

यह भी पढ़ें 👉  Birthday Special: भाजपा में कुशल प्रबंधन के साथ सियासी दांवपेच में भी 'माहिर' माने जाते हैं अमित शाह...

Latest News -
Continue Reading
Advertisement

More in देश

Advertisement

उत्तराखंड

उत्तराखंड
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

देश

देश
Our YouTube Channel

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

To Top
1 Share
Share via
Copy link
Powered by Social Snap